संसार के लिए दया-निधि: मिस्टर देवदास गॉधी , जो दिवंगत महात्मा गॉधी के कनिष्ठ...

संसार के लिए दया-निधि

 

मिस्टर देवदास गॉधी , जो दिवंगत महात्मा गॉधी के कनिष्ठ पुत्र थें, अपने एक निबन्ध में लिखते हैं-

           ‘‘ एक महान शक्तिशाली सूर्य के समान र्इश्वर दूत हजरत मुहम्मद (सल्ल0) ने अरब की मरूभूमि को उस समय रौशन किया, जब मानव-संसार घोर अन्धकार मे डूबा हुआ था और जब आप इस दुनिया से विदा हुए तो आप अपने सब काम पूर्ण कर चुके थें। वे पवित्रतम  काम जिससें दुनिया को स्थायी लाभ पहुॅचने वाला था।

 

दुनिया केसच्चे पथ-प्रदर्शक बहुत थोड़े हुए हैं उनके युगों में एक-दूसरे से बहुत अन्तर रहा हैं। वेलोग जिन्होने मुहम्मद (सल्ल0) के जीवन-चरित्र का अध्ययन उसी श्रद्धा के साथ किया हैं, जिसके वे अधिकारी हैं, वे इस बात को मानने पर बाध्य